जल विद्युत ऊर्जा ( Jal Vidyut Oorja )

इस लेख में विषय से सम्बन्धित सभी जानकारी मिलेगी जैसे कि – जल विद्युत ऊर्जा ( Hydroelectric Power ) । तो चलिए आगे जानते है इन सभी प्रश्नों के बारे में ” प्रश्नोत्तर “।   

जल विद्युत ऊर्जा ( Hydroelectric Power )

जल विद्युत / पनबिजली ऊर्जा — नदियों के ऊपर बाँध बना कर जल को इकट्ठा किया जाता है । इकट्ठे किए जल को टरबाइन पर गिराया जाता है . जिससे टरबाइन चलता है और बिजली बनती है ।

जलविद्युत के लाभ ( Benefits of Hydropower )

यह सस्ती होती है । इससे प्रदूषण नहीं होता है । यह ऊर्जा का नवीकरणीय स्रोत है ।

बाँधों से लाभ ( Benefits of Dams )

यह बाढ़ को रोकता है । इकट्ठा हुआ जल खेतों की सिंचाई के काम आता है ।

बाँधों से हानि ( Loss From Dams )

इससे बड़े पैमाने पर विस्थापन ( पुनवास ) समस्या उत्पन्न होती है । इससे पर्यावरण का संतुलन बिगड़ जाता है । जीव – जन्तुओं के आवास डूब जाते हैं । यह खर्चीला होता है ।

भारत के कुछ प्रुमख जल विद्युत केन्द्र

बाँध
  • दामोदर घाटी निगम ( कई बाँध हैं )
  • भाखड़ा – नांगल रिहन्द हीरा कुंड ( विश्व का सबसे लम्बा बाँध )
  • नागार्जुन बगलिहार सरदार सरोवर / नर्मदा टिहरी
नदी
  • दामोदर ( झारखण्ड )
  • सतलुज ( हिमाचल प्रदेश – पंजाब )
  • रिहन्द ( उत्तर प्रदेश महानदी ( ओडिशा )
  • कृष्णा ( आन्ध्र प्रदेश )
  • चिनाब ( जम्मू और कश्मीर )
  • नर्मदा ( मध्य प्रदेश )
  • भागीरथी और भिलांगना ( उत्तराखण्ड )

तो दोस्तों मुझे उम्मीद है कि इस लेख में दी गई सभी जानकारी जैसे — जल विद्युत ऊर्जा ( Hydroelectric Power ). आदि प्रश्नों के उत्तर अच्छी तरह समझ गए होंगे । अगर आपका कोई सवाल या सुझाव है तो हमें कमेंट करके जरूर बताएं. [धन्यवाद]

Read Other »